वो बारिश की बूँदें,

बूंदों में भींगना |

भींगे कपड़ो में,

घर को लौटना |

 

किताबों के बस्ते,

से सिर को छुपाना |

पानी के गड्ढे में,

कुलाँचें मारना |

 

जूतों को हाथों में,

लेकर फिसलना |

कागज़ की कश्ती,

का पानी में डूबना |

 

भीगें बालों को देख ,

माँ का वो डाँटना |

प्यार से झिड़ककर ,

आँचल से सुखाना |

 

आज भी थमता नहीं ,

इन बूँदों का बरसना |

पर भूल गईं ये बूँदें ,

मेरे मन को भिगोना |

 

वो बचपन के बादल ,

बादलों का उमड़ना |

कैसे मैं फिर देखूँ,

वो बारिश वो सपना |

Advertisements